होम लाइफस्टाइल Viral Fever vs Dengue: डेंगू और वायरल बुख़ार कैसे हैं एक दूसरे...

Viral Fever vs Dengue: डेंगू और वायरल बुख़ार कैसे हैं एक दूसरे से अलग

देशभर में एक बार फिर डेंगू बुख़ार का क़हर फैलता दिख रहा है। बारिश के मौसम में अक्सर मच्छर से होने वाली बीमारियां बढ़ने लगती हैं। ऐसे में अगर आपको बुख़ार आता है, तो इसे आम वायरल बुख़ार समझकर नज़रअंदाज़ न करें और फौरन जांच करवाएं। डेंगू और वायरल बुख़ार दोनों बेहद अलग तरह की बीमारियां हैं।

शुरुआत में इन्हें बिना जांच के पहचानना मुश्किल हो सकता है। इन दोनों बुख़ार में कई लक्षण भी एक जैसे हैं, लेकिन ये बिल्कुल लग तरह से फैलते हैं।

वायरल बुख़ार तीन से 5 दिनों तक रहता है, जिसमें ठंड लगना और शरीर में दर्द रहता है। ये बुख़ार जितनी जल्दी चढ़ता है, उतनी ही जल्दी उतर भी जाता है। यह या तो संक्रमित व्यक्ति द्वारा हवा में छींक या खांसी से छोड़ी गई बूंदों से होता है या किसी संक्रमित चीज़ को छू लेने से।

वहीं, डेंगू का बुख़ार, प्रकृति में अधिक जटिल है। यह टाइगर मच्छर (एडीज़ इजिप्टी) द्वारा फैलता है। मच्छर में काली और पीली धारियां होती हैं और यह आमतौर पर सुबह या भोर में काटता है। वायरस सफेद रक्त कोशिकाओं में प्रवेश करता है और प्रजनन करता है।

Viral Fever Vs Dengue

वायरस के पांच अलग-अलग प्रकार हैं, जिनमें से प्रत्येक की गंभीरता बढ़ती है। एक प्रकार के संक्रमण में आजीवन प्रतिरक्षा मिल जाती है और दूसरे प्रकार में कुछ समय के लिए ही मिलती है। डेंगू वायरस संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खासने या छूने से नहीं फैलता। यह बुख़ार कम से कम 7 दिनों तक रहता है। जिस दौरान बीच में उतरता-चढ़ता रहता है। इसके अलावा सिर दर्द, जोड़ों में दर्द और सूजन और शरीर पर चकत्ते भी दिखते हैं।

बुखार के बाद पैरों और हाथों की उंगलियां और जॉइन्ट्स में सूजन और दर्द हो सकता है। कई मरीज़ अपने पैरों, बाहों और धड़ पर चुभने वाले चकत्तों की रिपोर्ट करते हैं।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि वायरल और डेंगू बुख़ार में फर्क करना आसान है। वायरल संक्रमण में मरीज़ को बुख़ार के साथ नाक बहना, गले में दर्द, शरीर में दर्द, कमज़ोरी आदि जैसे लक्षण दिखते हैं। वहीं, डेंगू में बुख़ार तेज़ होता है, मांसपेशियों और हड्डियों में बेहद दर्द और बुखार के 24 या 48 घंटों बाद पूरे शरीर में गुलाबी रंग के चकत्ते हो जाते हैं।

मेडिकल तौर पर वायरल बुख़ार और डेंगू में फर्क समझने के लिए हीमोग्राम ( पूरा ब्लड टेस्ट) के साथ डेंगू NS1 एंटीजन टेस्ट किया जाता है। अगर टेस्ट पॉज़ीटिव आए, तो मतलब डेंगू है।

यदि आप भारत में इनमें से किसी भी बीमारी को पकड़ने की संभावना के बारे में चिंतित हैं, तो सबसे महत्वपूर्ण बात जो ध्यान में रखना है वह है मौसम। बीमारी की व्यापकता हर साल और भारत में जगह-जगह बदलती रहती है। भारत में डेंगू मॉनसून के मौसम के बाद के महीनों में सबसे आम है। वहीं, वायरल बुख़ार मौसम के बदलने के वक्त ज़्यादा होता है।

Anoj Kumar
Anoj Kumar a Indian Journalist & Founder Of Hnews

Must Read

Home Remedies To Quit Smoking: नहीं छूट रही स्मोकिंग की लत? अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

धूम्रपान करना सेहत के लिए बहुत ही बुरा होता है. स्मोकिंग की लत न सिर्फ आपके शरीर को कमजोर कर देती है बल्कि धीरे-धीरे...

Bollywood Actress Alia Bhatt ऐसी टी-शर्ट और जूते पहनने पर बुरी तरह से हुईं ट्रोल, जानें पूरा मामला

बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट फिल्मों के साथ अपनी निजी जिंदगी को लेकर भी काफी सुर्खियों में हैं। लंबे समय से मीडिया में ऐसी खबरें...

Chinese Mobile Ban: जानें क्यों सरकार ने पुराना फोन फेकने और नया ना लेने की दी सलाह, जानें पूरा सूत्र

भारत में फेस्टिवल सीजन बिल्कुल नजदीक है। ऐसे में सभी सस्ते में स्मार्टफोन समेत इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस खरीदने की सोच रहे होंगे। लेकिन इसी बीच...

Food For Good Night Sleep: कहीं डिनर तो नहीं कर रहा आपकी रात की नींद को खराब, तो अपनाएं ये ट्रिक

रात के समय जागना आज के लाइफस्‍टाइल का हिस्‍सा बन गया है.  लेकिन अगर आप चाहकर भी अगर बिस्‍तर में रात (Night) के समय...

Related News

Home Remedies To Quit Smoking: नहीं छूट रही स्मोकिंग की लत? अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

धूम्रपान करना सेहत के लिए बहुत ही बुरा होता है. स्मोकिंग की लत न सिर्फ आपके शरीर को कमजोर कर देती है बल्कि धीरे-धीरे...

जसपाल पंवार उर्फ़ जस्सी की जस पंवार (Jas Panwar) बनने तक की कहानी

खुद के बल बूते निरंतर संघर्षो से तपा खरा सोना है जस पंवार। आज जहा अच्छे अच्छे न पहुँच पाए उस मुकाम को हासिल...

Tips For Painful Health Manages: कोरोना के बाद कई तरह के दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये उपाय

कोरोना से संक्रमित हो चुके लोगों में साल भर बाद भी कई समस्याएं आ रही हैं. डॉक्टर भी इस बात से हैरान हैं कि...

Sleep In Makeup Side Effects: मेकअप लगा कर सोती हैं, तो जान लीजिए आपको कितने तरह का होता हैं नुकसान

महिलाएं सजने-संवरने के लिए क्या-क्या नहीं करती. कहीं से भी मेक-अप का कुछ नया ट्रेंड पता चल जाए, तो उसे आजमा कर ही दम...

One-sided Relationship: आपका रिश्ता कहीं एकतरफा तो नहीं? जानें यहाँ

किसी भी रिश्ते (Relationship)में प्यार, विश्वास और सम्मान की बहुत ज्यादा जरूरत होती है. कई बार ऐसा होता है कि हम अपने पार्टनर (Partner)...