होमलाइफस्टाइलमानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने के लिए इन सुपरफूड्स का उपयोग करें,...

मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने के लिए इन सुपरफूड्स का उपयोग करें, तनाव चुटकी में दूर हो जाएगा

मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए, मानसिक उत्तेजना को शांत रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इसके लिए पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। आज के समय में, अवसाद और तनाव एक ऐसी समस्या है, जिसका अगर समय रहते पता नहीं लगाया गया तो यह एक गंभीर बीमारी का रूप ले सकती है। मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए, मानसिक उत्तेजना को शांत रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इसके लिए पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। ऐसे में कुछ खास सुपरफूड्स आपकी मदद कर सकते हैं। आपको बता दें कि तनाव और तनाव से बचने के लिए अक्सर कई लोग चाय और कॉफी का सेवन करते हैं। लेकिन यह गलत है। चाय और कॉफी में कैफीन मौजूद होता है, जो शारीरिक समस्याओं के साथ-साथ मानसिक समस्याओं का कारण बन सकता है।

डॉक्टरों के अनुसार, कुछ विशेष सुपरफूड तनाव और तनाव को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इन्हें नियमित रूप से लेने से न केवल अवसाद को दूर रखने में मदद मिलती है बल्कि यह अवसाद रोधी दवाओं की तरह भी काम करता है। इनका सेवन करने से शरीर में सेरोटोनिन हार्मोन को बढ़ाने में मदद मिलती है, जिससे मूड खुश रहता है और तनाव से राहत मिलती है। आइए जानते हैं कौन सी हैं वो सुपरफूड्स।

हरी पत्तेदार सब्जियां

पालक, मेथी, गोभी जैसी सब्जियां कोशिकाओं को विषाक्त या विषाक्त होने से बचाती हैं। इनका सेवन करने से दिमाग तेज होता है। इसके साथ ही इसमें विटामिन ए, सी, ई और के के अलावा आयोडीन और मैग्नीशियम भी मौजूद होते हैं। ये फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भी लैस होते हैं, जो मस्तिष्क की रक्षा करते हैं। इन सब्जियों में मौजूद प्रो और प्री-बायोटिक्स पेट को भी दुरुस्त रखते हैं और समय-समय पर दिमाग को दुरुस्त रखते हैं। इनके सेवन से मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखा जा सकता है।

फल

फलों में कई पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं। खासतौर पर सेब, फाइबर युक्त होने के कारण यह आयरन और एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर होता है। मधुमेह के रोगी प्रतिदिन एक सेब आराम से खा सकते हैं क्योंकि इसका जीआई बहुत कम है। इसके अलावा, सामान्य लोग भी अन्य फलों को आराम से खा सकते हैं, क्योंकि अधिकांश फलों में विटामिन, खनिज के अलावा प्राकृतिक मिठास होती है, जो स्वास्थ्य को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। सभी मौसमी फल मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखते हैं। मांस शाकाहारी चीजों के साथ-साथ आहार में अक्सर नॉन-वेज खाद्य पदार्थों की भी आवश्यकता होती है। मांस में मौजूद उच्च प्रोटीन मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में मदद करता है। मीट खान की तुलना में तनाव और तनाव की समस्या कम दिखाई देती है। यह ओमेगा 3 फैटी एसिड का भी स्रोत है। इसमें मौजूद अच्छे वसा मस्तिष्क को अल्जाइमर और मनोभ्रंश जैसी बीमारियों से बचाते हैं।

अखरोट

अखरोट की बनावट भी मस्तिष्क की तरह लगती है। बच्चों और वयस्कों के लिए सुबह का नाश्ता पूरा करना सबसे महत्वपूर्ण है। यह मूड में सुधार करता है और इसमें मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड मस्तिष्क के कामकाज में मदद करते हैं। यह अवसाद के लक्षणों को भी रोकता है। इसे खाने से तनाव कम होता है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और जानकारी मान्यताओं पर आधारित हैं।  इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन्हें लागू करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)

Must Read

Related News

error: Content is protected !!