होमदुनियाPM Modi Celebrate Diwali With Jawans: जहां खेली गई थी खून की...

PM Modi Celebrate Diwali With Jawans: जहां खेली गई थी खून की होली, आज खुशी के दीप जलाएंगे PM Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दीपावली इस बार भी सीमा पर देश की रक्षा में तैनात सेना के जवानों के बीच होगी। जगह होगी, भारत-पाक नियंत्रण रेखा से सटे राजौरी जिले का नौशहरा सेक्टर। यह क्षेत्र अपने आप में खास और वीरता का रण भी है।

1947 में पाकिस्तान की शह पर कबायलियों ने दीपावली के दिन ही राजौरी जिले पर हमला कर मारकाट मचाकर सैकड़ों लोगों को शहीद कर दिया था। स्थानीय लोगों और सेना ने इस हमले का बहादुरी से सामना किया था। 12 अप्रैल, 1948 तक चली कार्रवाई में सेना ने कबायलियों को खदेड़ राजौरी को वापस लिया था। दीपावली के दिन राजौरी में हर साल कबायली हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाती है।

प्रधानमंत्री दीपावली के दिन नियंत्रण रेखा की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाली नौशहरा ब्रिगेड में होंगे। वह आज गुरुवार सुबह करीब सवा नौ बजे नौशहरा पहुंचेंगे। दोपहर एक बजे तक जवानों के साथ रहेंगे। पीएम के आने की सूचना से जवान भी बेहद उत्साहित हैं। सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

राजौरी-पुंछ में आतंकवाद बढ़ा रहे पाकिस्तान को होगा स्पष्ट संदेश:

PM Modi Celebrate Diwali With Jawans

नियंत्रण रेखा से सटा राजौरी और साथ लगता पुंछ जिला इन दिनों सुर्खियों में हैं। पाकिस्तान ने कश्मीर के सीमांत क्षेत्रों के बजाए पिछले कुछ समय से इन जिलों में अपनी साजिशें तेज की हैं। पुंछ जिले के भाटाधुलियां जंगलों में हाल में आतंकियों और सेना के बीच 20 दिन लंबा आपरेशन चला। इस दौरान हुई मुठभेड़ में नौ जवानों ने शहादत पाई। पिछले चार महीने की बात करें तो राजौरी-पुंछ जिलों में 14 सैनिकों ने आतंकियों से लड़ते हुए शहादत पाई है। इस समय भी सेना के जवान क्षेत्र को आतंकवाद मुक्त बनाने के लिए डटे हैं। ऐसे हालात में प्रधानमंत्री का दौरा जवानों का मनोबल बढ़ाने के साथ पाकिस्तान का स्पष्ट संदेश भी होगा कि वह अपनी हरकतों से बाज आए। इससे पहले जब पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव बढ़ा तो तब भी प्रधानमंत्री ने लद्दाख का दौरा कर जवानों का मनोबल बढ़ाया था।

तीन साल में दूसरी बार आ रहे राजौरी:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन साल में दूसरी बार सैनिकों के साथ दीपावली मनाने राजौरी आ रहे हैं। इससे पहले वह जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटने के बाद 2019 में यह त्योहार मनाने के लिए राजौरी आए थे। उन्होंने राजौरी में सेना के डिव मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में सैनिकों के साथ दीपावली मनाई थी।

हर साल सैनिकों संग दीपावली मनाते हैं पीएम:

  • 2014 : प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी ने लद्दाख में विश्व के सबसे ऊंचे युद्ध क्षेत्र सियाचिन में दीपावली मनाई थी। उस समय लद्दाख जम्मू कश्मीर का हिस्सा था।
  • 2017 : प्रधानमंत्री कश्मीर के बांडीपोरा में दीवाली के दिन सेना व सीमा सुरक्षा बल के जवानों के बीच थे।
  • 2019 : राजौरी में सैनिकों के साथ दीपावली मनाई
  • 2020 में पीएम दीपावली के दिन राजास्थान के जेसलमेर में जवानों के साथ थे।
Anoj Kumar
Anoj Kumar a Indian Journalist & Founder Of Hnews

Must Read

Related News