PM मोदी की अपील हुई फ़ैल सामाजिक एकता दिखाने की बजाय लोगो ने किया कोरोना को सामने से आमंत्रित !

0
355

PM मोदी की अपील हुई फ़ैल सामाजिक एकता दिखाने की बजाय लोगो ने किया कोरोना को सामने से आमंत्रित !

कोविड-19 महामारी के कारण पूरे देश में लॉक डाउन है. लॉक डाउन के दौरान बीते शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम एक वीडियो मैसेज दिया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि 5 अप्रैल को रात 9:00 बजे 9 मिनट तक घर की लाइट बंद करके दीया, मोमबत्ती, फ्लैशलाइट या टॉर्च जलाएंगे.

इस वीडियो में पीएम मोदी ने भारत की जनता से अपील करते हुए कहा था कि सभी को अपने घर में ही 9 मिनट के लिए दिया, मोमबत्ती, फ्लैश लाइट जलानी है. किसी को भी झुंड में और इकट्ठा होकर कर दीये नहीं जलाने है. सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखते हुए एकता को दिखाना है.

क्योंकि इकट्ठा होने से कोरोनावायरस के ज्यादा फैलने का खतरा होता है इसीलिए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए और घर में ही दिए जलाए जाएं. फिर भी कुछ लोगों ने उनकी अपील को ना मानकर इकट्ठा होकर दिए और मोमबत्ती फ्लैश लाइट जलाई और गो कोरोना गो जैसे नारे लगाए. जिसके कुछ वीडियो आपके सामने है

1. इस वीडियो में लोग हाथों में मशाल लिए हुए झुंड में इकट्ठा हों कर गो कोरोना गों के नारे लगा रहे हैं.

2. इस वीडियो में कुछ लोग इकट्ठा होकर कोरोना वायरस को चाइनीस वायरस बुलाते हुए चाइना वायरस गो बैक चाइना वायरस गो बैक जैसे नारे लगा रहे हैं

3. इस वीडियो में एक व्यक्ति पीएम मोदी की अपीलपर  दिये जलाने की जगह आग से कुछ करतब दिखाने की कोशिश कर रहा है जो इस पर ही भारी पड़ जाती है और उसकी दाढ़ी में आग लग जाती है.

4. यह वीडियो किसी घर के जलने का है जिसमें मोदी जी की अपील पर दिए जलाने के साथ-साथ पटाखे फोड़ने की कोशिश में है अपने घर को भी जला बैठे.

5. इस वीडियो में एक संदेश छुपा हुआ है. हमारे देश को किस चीज की जरूरत है और हम क्या कर रहे हैं.

 

PM मोदीकी अपील के बावजूद भी लोगों का इकट्ठा होना और इकट्ठा कर दिया जलाना एक तरह से कोरोना के संक्रमण को बढ़ावा देना है जिस से बचने के लिए ही  PM मोदी ने इकट्ठा होने से मना किया था लेकिन कुछ लोगों ने उनकी बात नहीं मानते हुए इकट्ठा होकर गो कोरोना गो जैसे नारे लगाए और कोरोना को सामने से आमंत्रित किया है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here