होमस्वास्थ्यप्याज के कारण हो रही है salmonella की बीमारी

प्याज के कारण हो रही है salmonella की बीमारी

पिछले कुछ दिनों से अमेरिका में सैल्मोनेला (salmonella) का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है. अमेरिका के 37 राज्यों में सैल्मोनेला के कारण 650 लोग बीमार पड़े हैं. अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीएस) ने इसके लिए प्याज को प्रमुख स्रोत माना है. सीडीएस ने कहा है कि मैक्सिको से मंगाई गई प्याज में सैल्मोनेला का स्रोत पाया गया है. लाल, सफेद और पीली प्याज में सैल्मोनेला मिले हैं. सीडीएस ने लोगों को सलाह दी है कि जिनके घर में लाल, पीली और सफेद प्याज हैं, वे इसे बाहर फेंक दें. सीडीएस ने पाया है कि जितने लोगों को सैल्मोनेला हुआ है, उनमें से 75 प्रतिशत ने कच्चे प्याज का सेवन किया था.

दूषित पानी या फूड के कारण सैल्मोनेला होता है

सैल्मोनेला इंफेक्शन या सैल्मोनेलोसिस (Salmonellosis ) एक सामान्य बैक्टीरियल बीमारी है, जिसके कारण फूड प्वॉजनिंग होती है. यह पाचन तंत्र पर हमला करता है जिसके कारण पेट से संबंधित परेशानियां पैदा होती है. सैल्मोनेला बैक्टीरिया आमतौर पर जानवरों और मनुष्य की आंत में पाए जाते हैं जो पाचन नली के माध्यम से शरीर के बाहर निकल जाते हैं. मनुष्य सैल्मोनेला से दूषित पानी या भोजन लेने के कारण इस बीमारी से संक्रमित हो सकता है.

सैल्मोनेला बीमारी के कारण

  • कच्चे मीट, चिकेन इत्यादिन खाने से सैल्मोनेला हो सकता है.
  • कच्चे फल और सब्जियों में भी सैल्मोनेला बैक्टीरिया हो सकते हैं, इसलिए कच्चे फल और सब्जी खाने में सतर्कता बरतने की जरूरत है.
  • अनपाश्चुराइज्ड दूध और डेयरी प्रोडक्ट भी सैल्मोनेला का कारण हो सकते हैं. सॉफ्ट चीज, आइस्क्रीम और छाछ में सैल्मोनेला हो सकता है.
  • कच्चा अंडा भी सैल्मोनेला का कारण हो सकता है.
  • अगर आप अपने हाथ को सही से साफ नहीं करते हैं, तो भी सैल्मोनेला इंफेक्शन हो सकता है.
  • आमतौर पर सैल्मोनेला जानवरों में पाया जाता है, इसलिए पालतू जानवरों से भी सैल्मोनेला हो सकता है.

क्या होता है इस बीमारी में

सैल्मोनेला इंफेक्शन के कारण ज्यादातर लोगों में डायरिया, बुखार या पेट में क्रेंप की शिकायत आती है. इसके लक्षण छह घंटे से लेकर छह दिनों के बीच शरीर में दिखाई देते हैं. इस बैक्टीकिया के कुछ स्ट्रैन बहुत खतरनाक होते हैं और यह यूरिन, ब्लड, बोन और तंत्रिका तंत्र पर भी हमला कर देते हैं. इस स्थिति में मामला बहुत खतरनाक हो सकता है. सीडीएस ने सलाह दी है कि अगर डायरिया तीन दिनों से ज्यादा परेशान कर रहा है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

क्या है इसका इलाज

आमतौर पर कुछ दिनों बाद यह इंफेक्शन सही हो जाता है. कुछ मामलों में डॉक्टरों से दिखाने की जरूरत होती. डॉक्टर एंटीबायोटिक लेने की सलाह देते हैं. इस इंफेक्शन में डायरिया हो जाता है जिससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है. इसलिए पानी खूब पीना चाहिए.

Anoj Kumar
Anoj Kumar a Indian Journalist & Founder Of Hnews

Must Read

Related News