होमलाइफस्टाइलइस चटनी को रोजाना भोजन के साथ खाएं, इससे पिंपल्स में प्रतिरोधक...

इस चटनी को रोजाना भोजन के साथ खाएं, इससे पिंपल्स में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी

नीम में कई औषधीय गुण हैं। ऐसे में इसे खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नीम की चटनी को सामान्य तरीके से खाना संभव नहीं है, लेकिन अगर इसमें कुछ चीजें मिला दी जाएं तो खाने के लिए अच्छा है। यह प्रतिरक्षा को भी बढ़ाता है। इन सभी बीमारियों से बचने के लिए, मजबूत प्रतिरक्षा होना बहुत महत्वपूर्ण है। एक स्वस्थ आहार, व्यायाम और अच्छी नींद प्रतिरक्षा को बढ़ाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सलाद के अलावा, आप धनिया की चटनी या टमाटर की चटनी खाएंगे, लेकिन आज हम आपको चटनी की रेसिपी बताएंगे जो न केवल स्वाद में बढ़िया है बल्कि आपकी इम्युनिटी को भी बूस्ट करती है। यह सॉस नीम है। आइए हम आपको बताते हैं कि यह चटनी क्यों महत्वपूर्ण है और इसे बनाने का तरीका क्या है।

नीम की चटनी

नीम में कई औषधीय गुण हैं। ऐसे में इसे खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नीम की चटनी को सामान्य तरीके से खाना संभव नहीं है, लेकिन अगर इसमें कुछ चीजें मिला दी जाएं, तो यह सबसे अच्छा है। यह उन्मुक्ति को भी बढ़ाता है। सामग्री नीम के पेड़ की पत्तियां कोकम जगरी नमक जीरा नुस्खा नीम की चटनी बनाने के लिए, सबसे पहले, नीम के पेड़ को धोएं। पत्ते। इसके बाद इसमें नीम के पत्ते, कोकम, जीरा, और स्वादानुसार नमक डालकर मिक्सर में ब्लेंड करें। अब थोड़ा गुण लें। इस प्रॉपर्टी को पैन में डालें और धीमी आंच पर पकाएं। जैसे ही गुड़ पिघल जाए गैस बंद कर दें। इसके बाद इसे एक कटोरे में निकाल लें। अब उसी कटोरे में नीम की पत्ती का पेस्ट डालें। अब इन सभी चीजों को अच्छे से मिलाएं। आपकी चटनी तैयार है। नीम के फायदे रस बनाने के बाद नीम के पत्तों का सेवन करने से हर प्रकार की किडनी की समस्या को दूर किया जा सकता है। मलेरिया और डेंगू से बचें, नीम के बीज का सेवन फायदेमंद है। इसे सुबह खाली पेट चबाया जा सकता है। – नीम के पत्तों के सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। ] नीम के पत्ते एलर्जी को दूर करने में भी लाभकारी होते हैं। आप नीम के पत्तों का पेस्ट त्वचा पर लगा सकते हैं या गोली लेने के बाद सुबह और शाम खा सकते हैं। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और जानकारी मान्यताओं पर आधारित हैं। हिंदी समाचार केकड़ा इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन्हें लागू करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)

Must Read

Related News