होम स्वास्थ्य Breaking News: कोरोना महामारी से पीड़ित लोग हो रहे हैं डिप्रेशन के...

Breaking News: कोरोना महामारी से पीड़ित लोग हो रहे हैं डिप्रेशन के शिकार

कोरोना का कहर कब तक नासूर बनकर परेशान करता रहेगा, यह कोई नहीं जानता, लेकिन यह लंबे समय तक जीवन में उथल-पुथल मचाएगा, यह तय है. इस बीमारी ने न सिर्फ शारीरिक परेशानी को बढ़ाया है बल्कि मानसिक स्वास्थ्य को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है. डेलीमेल की खबर के मुताबिक ब्रिटेन में कोरोना के कारण डिप्रेशन या अवसाद की दर 70 प्रतिशत तक बढ़ गई है. यह सिर्फ ब्रिटेन का हाल नहीं है. लगभग सभी देशों के लोगों का यही हाल है. आंकड़ों के मुताबिक कोरोना के आक्रमण से पहले ब्रिटेन में 10 प्रतिशत लोग डिप्रेशन के शिकार थे. लेकिन कोरोना की पहली और दूसरी लहर के साथ 21 प्रतिशत लोग अवसादग्रस्त हो गए. इस बीच दो लॉकडाउन का दौर भी देखने को मिला जिसके कारण जल्दी ही दोगुने लोग डिप्रेशन में चले गए.

स्थिति में सुधार हो रही है

हालांकि दो साल बाद अब इस मामले में गिरावट देखी जा रही है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक 13 हजार लोगों से उनके मेंटल हेल्थ के बारे एक सर्वे किया गया जिसमें यह बात खुलकर सामने आई कि अब लोग डिप्रेशन से बाहर आने लगे हैं. सर्वे के अनुसार कोरोना काल से पहले की तुलना में डिप्रेशन की दर 70 प्रतिशत से ज्यादा पर पहुंच गई थी, लेकिन अब इसमें सुधार हो रहा है. फिलहाल 10 में से 2 लोग अब भी डिप्रेशन के शिकार हैं. इनमें अधिकांश महिलाएं एवं युवा शामिल हैं. सर्वे में कोरोना की दूसरी लहर के समय जो 21 प्रतिशत लोग डिप्रेस्ड थे, वहीं अब सिर्फ 17 प्रतिशत लोगों को ही अवसाद से जूझना पड़ रहा है.

Depression Rate Higher Than Pre Covid-19

महिलाओं में ज्यादा अवसाद

एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि लॉकडाउन, सामाजिक अलगाव, नौकरी में कटौती, महामारी को लेकर आशंका आदि कई कारणों की वजह से लोग अवसाद में जा रहे हैं. इस गर्मी में कोरोना के मामले कम होने के बाद सरकार ने कई चीजों से पाबंदी हटा ली जिसके बाद लोग इधर-उधर जा पा रहे हैं और इसी कारण मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होने लगा है. 21 जुलाई से 15 अगस्त के बीच जब सर्वे किया गया, तो 6 में से दो लोगों ने बताया कि वे किसी न किसी रूप में अवसादग्रस्त हुए है. महिलाओं में अवसाद का स्तर पुरुषों के मुकाबले ज्यदा था. 16 साल से 29 साल के बीच तीन में से एक महिला  अवसाद से जूझ रही थी. जबकि इस उम्र में सिर्फ 20 प्रतिशत पुरुषों को अवसाद से झेलना पड़ा.

Anoj Kumar
Anoj Kumar a Indian Journalist & Founder Of Hnews

Must Read

नितिन नेगी , आयु, कुल संपत्ति, परिवार, जीवनी और अधिक

नितिन नेगी एक भारतीय निर्माता, डिजिटल प्रमोटर, चमोली उत्तराखंड के निदेशक हैं, जिन्होंने खुद को एक पेशेवर डिजिटल मार्केटर के रूप में स्थापित किया...

Tips For Giving Medicines To Child: कहीं आप तो नहीं कर रहे हैं बच्चों को दवा देने में ये गलतियां?

बच्चे (Kids) जब बीमार हो जाते हैं तो माता-पिता की रातों की नींद उड़ जाती है. खासकर बदलते मौसम में बच्चे अचानक से बीमार...

Sarkari Naukri 2021: एम्स में 12वीं पास के लिए ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट की वैकेंसी, जानें योग्यता और सैलेरी

ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड (BECIL) ने एम्स, झज्जर के लिए ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंस्ट के पदों के लिए आवेदन मांगे हैं.ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट पद...

Pakhi Hegde Upcoming Movie: खुद से 8 साल छोटे एक्टर Pradeep Pandey Chintu संग ‘रोमांस’ कर रहीं Pakhi Hegde

भोजपुरी एक्ट्रेस (Bhojpuri Actress) पाखी हेगड़े (Pakhi Hegde) आज सिनेमा जगत में किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं. काफी लंबे समय के बाद वो एक बार...

Related News

Food For Good Night Sleep: कहीं डिनर तो नहीं कर रहा आपकी रात की नींद को खराब, तो अपनाएं ये ट्रिक

रात के समय जागना आज के लाइफस्‍टाइल का हिस्‍सा बन गया है.  लेकिन अगर आप चाहकर भी अगर बिस्‍तर में रात (Night) के समय...

Brinjal Side Effects: भूल कर भी ना खाएं बैंगन अगर सेहत को लेकर है ये 7 समस्‍याएं

हर मौसम में मिलने वाला बैंगन (Brinjal) सेहत के मामले में तो फायदेमंद है ही, यह स्‍वाद के हिसाब से भी काफी पसंद किया...

5 कारण जिनकी वजह से Dental चेकअप जरूरी है

अपने मुंह और मौखिक स्वच्छता को ध्यान में रखना मूल रूप से आपके पूरे शरीर और समग्र स्वास्थ्य की देखभाल करना है। डेंटल चेकअप...

मॉनसून में सिर में Itching and Stickiness से हैं परेशान, तो अपनाएं ये उपाय

बारिश के मौसम में बालों की समस्‍या बढ़ जाती है. यह समस्‍या बारिश (Monsoon) के पानी और ह्यूमिडिटी बढने के कारण होती है. अगर...

Blood Sugar को कंट्रोल करने के लिए पिएं जैतून के पत्तों का काढ़ा, इस तरह करें इस्तेमाल

डायबिटीज यानी मधुमेह (Diabetes) एक ऐसी बीमारी है जो एक बार हो जाए तो जीवन भर इससे छुटकारा पाना असंभव हो जाता है. दरअसल...