लॉक डाउन का पड़ सकारात्मक प्रभाव , जालन्धर से दिखने लगे हैं शिमला के पहाड़

0
405

लॉक डाउन का पड़ सकारात्मक प्रभाव , जालन्धर से दिखने लगे हैं शिमला के पहाड़

कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण पूरा देश 21 दिनों के लिए 14  अप्रैल तक पुरी तरह से लॉक डाउन है। लॉक डाउन के चलते लोग अपने ही घर मे कैद महसूस कर रहे हैं। बाज़ार , सड़के सुनी पड़ी हुई है । दूर दूर तक कोई इंसान देखने को नही मिलता । परन्तु इस लॉक डाउन का असर प्रकृति पर बहुत अच्छा पड़ता दिखाई दे रहा है। एक ओर जहां पहले इंसानों द्वारा चलाये गए वाहनो से ओर कारखानों से निकलने वाली गैसों से वातावरण निरन्तर बिगड़ रहा था। अब ऐसे महसूस हो रहा हैं जैसे प्रकृति को ठीक से सांस लेने के लिए ही ये लॉक डाउन हुआ है।

दिखने लगे है वातावरण पर असर :

लॉक डाउन का असर वातावरण पर दिखने लगा है। चारो तरफ हवा साफ हो गयी है। जहा सुबह उठते ही वाहनों और कारखानों की धुंआ ही वातवरण में फैली रहती थी। परंतु अब लॉक डाउन की वजह से वातावरण में पृथ्वी के नज़दीक मजूद प्रदूषण कम हो गई है ।

प्रदूषण कम होने के उदाहरण पंजाब में देखने को मिला।जहां पहले रोज के प्रदूषण के कारण वस्तुएँ देखने मे दिक्कत जोति थी । वहीं अब लॉक डाउन के कारण वातावरण  इतना साफ हो गया है कि जलन्धर से शिमला स्तिथ पहाड़ दिखाई दे रहे है। जो वातावरण में फैले प्रदूषण के कम होने का संकेत है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here