होम Headlines तृणमूल कांग्रेस की कोविड योद्धा सोफिया खान महामारी के संकट में एक...

तृणमूल कांग्रेस की कोविड योद्धा सोफिया खान महामारी के संकट में एक अद्भुत महिला

जब से बैड-बॉय कोरोनावायरस ने हमारे जीवन में प्रवेश किया है, हमारा जीवन कठिन हो गया है। लोगों ने हर तरह की त्रासदियों को देखा है – हमारी नौकरी खोने से लेकर हमारे प्रियजनों तक एक स्मृति बन जाती है। समय हम सभी के लिए कठिन रहा है।

जहां दुनिया आत्म-संदेह और चिंता में डूब रही है, वहीं कुछ लोग दुनिया को स्थिर रखने के लंगर बन गए हैं। ये लोग सुपरहीरो हैं, मानव जाति के रक्षक हैं। सुपरपावर सुपरहीरो नहीं बनाते बल्कि यह मानसिकता है जो मायने रखती है। कोविड संकट के बीच, जहां लोग घर पर रहना और अपनी सुरक्षा करना पसंद कर रहे हैं, यह सोफिया खान जैसे सुपरहीरो हैं, जो लोगों की सुरक्षा के लिए इसे अपना व्यवसाय बनाते हैं।

सोफिया खान एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं जो एक सरकारी स्कूल में शिक्षक के रूप में काम करती हैं, वास्तव में एक शक्तिशाली संयोजन। वह वर्ष 2016 में “उड़ान सशक्तिकरण महिला” नामक एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) में एक सचिव के रूप में शामिल हुईं। वह उत्तरी कोलकाता के राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन में उपाध्यक्ष भी हैं। साथ ही, वह 2018 में कोलकाता विश्वविद्यालय के रोटरी क्लब की सचिव थीं। उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों में कई साहित्यिक अभियान चलाए हैं। सोफिया महिला सशक्तिकरण में दृढ़ विश्वास रखती हैं। वह अपने कामों के माध्यम से महिलाओं को अपना समर्थन दिखाती हैं। उन्होंने मिल्ली अल-अमीन कॉलेज फॉर गर्ल्स की लड़कियों को उनकी परीक्षा में बैठने में मदद करने के लिए विरोध किया।

सोफिया हमेशा समाज में बहुत शामिल रही है और जितना हो सके उतना प्रदान करने की पूरी कोशिश करती है। महामारी में, जब हम में से अधिकांश भोजन की चिंता कर रहे थे और निराशाजनक विचार कर रहे थे, सोफिया गरीबों और जरूरतमंदों को खिलाने में व्यस्त थी। पिछले साल और साथ ही इस साल पूरे लॉकडाउन के दौरान, उसने सुनिश्चित किया कि उसके आसपास के लोगों को खाना खिलाया जाए। 2020 में पहले लॉकडाउन के दौरान, उन्होंने कई प्रवासी कामगारों को उनके गृहनगर वापस जाने में मदद की और किराने के सामान में भी उनकी मदद की। इस साल जब दूसरी लहर अपने चरम पर थी और लोग बिना ऑक्सीजन के मर रहे थे तो वह पश्चिम बंगाल में लोगों को मुफ्त ऑक्सीजन सिलेंडर देने में मदद करने के लिए वहां मौजूद थीं। बाद में उसने मदद को आगे बढ़ाया और 4 कारों को कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ मुफ्त एम्बुलेंस सेवा में बदल दिया।

सोफिया खान
सोफिया खान

कभी-कभी, जब लोग दूसरों की मदद कर रहे होते हैं, अगर चक्रवात जैसी कोई बाधा आती है, तो लोगों का विश्वास डगमगा जाता है लेकिन सोफिया उनमें से एक नहीं थी। जब प्रकृति माँ विरोध कर रही थी तब भी उसने भोजन वितरण जारी रखा। Yaas और Amphan चक्रवात अपने साथ बहुत विनाश लेकर आए, हालाँकि, सोफिया लड़ती रही। उन्होंने चक्रवात से प्रभावित लगभग एक हजार परिवारों के लिए संदेशखली में पीने का पानी, कपड़े, बिस्कुट, केक आदि जैसी राहत सामग्री भेजी। इसके अलावा, उसने पीड़ित परिवारों को तिरपाल और राशन साबित करके उनकी मदद भी की। वह सक्रिय रूप से जरूरतमंदों की मदद कर रही हैं। वह दूसरों को भी आगे आने और यथासंभव योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

फेसबुक पर अपनी एक पोस्ट में उसने पोस्ट किया कि ‘हमने एक-दूसरे की मदद करना सीखा, हमने न केवल अपने लिए बल्कि सभी के लिए प्रार्थना करना सीखा, भले ही हम उन्हें नहीं जानते हों, हमने सीखा कि बुनियादी जरूरतें केवल भोजन, कपड़े हैं, और आश्रय।’

सोफिया खान उन सभी के लिए एक प्रेरणा हैं जो दुनिया में बदलाव लाना चाहते हैं। सोफिया मानव समाज में बदलाव लाने के लिए हर उस चीज का समर्थन करती रही है जिसमें वह विश्वास करती है। केवल विचार रखना ही काफी नहीं है, लोगों को कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने समाज के लिए हर संभव योगदान दिया।

कभी-कभी, जब लोग दूसरों की मदद कर रहे होते हैं, अगर चक्रवात जैसी कोई बाधा आती है, तो लोगों का विश्वास डगमगा जाता है लेकिन सोफिया उनमें से एक नहीं थी। जब प्रकृति माँ विरोध कर रही थी तब भी उसने भोजन वितरण जारी रखा। Yaas और Amphan चक्रवात अपने साथ बहुत विनाश लेकर आए, हालाँकि, सोफिया लड़ती रही। उन्होंने चक्रवात से प्रभावित लगभग एक हजार परिवारों के लिए संदेशखली में पीने का पानी, कपड़े, बिस्कुट, केक आदि जैसी राहत सामग्री भेजी। इसके अलावा, उसने पीड़ित परिवारों को तिरपाल और राशन साबित करके उनकी मदद भी की।

वह सक्रिय रूप से जरूरतमंदों की मदद कर रही हैं। वह दूसरों को भी आगे आने और यथासंभव योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। फेसबुक पर अपनी एक पोस्ट में उसने पोस्ट किया कि ‘हमने एक-दूसरे की मदद करना सीखा, हमने न केवल अपने लिए बल्कि सभी के लिए प्रार्थना करना सीखा, भले ही हम उन्हें नहीं जानते हों, हमने सीखा कि बुनियादी जरूरतें केवल भोजन, कपड़े हैं, और आश्रय।’

सोफिया खान उन सभी के लिए एक प्रेरणा हैं जो दुनिया में बदलाव लाना चाहते हैं। सोफिया मानव समाज में बदलाव लाने के लिए हर उस चीज का समर्थन करती रही है जिसमें वह विश्वास करती है। केवल विचार रखना ही काफी नहीं है, लोगों को कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने समाज के लिए हर संभव योगदान दिया।

Must Read

पैसों की है जरूरत तो फ्री में कोई भी शुरू कर सकता है यह कारोबार, जानिए क्या है प्रोसेस?

आज हम आपको एक ऐसे कारोबार (Business idea) के बारे में बता रहे हैं, जहां आप बिना कुछ पैसे लगाएं शुरू (How to start...

Business At Small Level Investment: ₹1 लाख लगाकर हर महीने करें 8 लाख रुपये तक की कमाई, जानिए क्या है यह कारोबार और कैसे...

आज हम आपको एक शानदार कारोबार (Business Idea) के बारे में बता रहे हैं. जहां आप कम पैसे (Business at small level investment) खर्च...

प्रेग्‍नेंट हैं Varun Dhawan की पत्‍नी Natasha Dalal…?

वरुण धवन (Varun Dhawan) और नताशा दलाल (Natasha Dalal) की लव स्‍टोरी क‍िसी फेरी-टेल से कम नहीं है. उनके फैंस अक्‍सर इस जोड़ी की...

नौकरी करने वाले भी सिर्फ 10 हजार रुपये में शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, जानें पूरा समीकरण

आज हम आपको एक ऐसे बिजनेस आइडिया (Business Idea) के बारे में बताएंगे, जिसके जरिए आप घर बैठे आसानी से 50 हजार रुपये महीना...

Related News

Bank Holiday 2021: बैंक अगले हफ्ते 5 दिन रहेंगे बंद, निपटा लें जरूरी काम, 1 से 6 नवंबर तक

दिवाली, भाई दूज जैसे त्योहारों को देखते हुए देश भर के बैंक अगले सप्ताह कुल 5 दिनों के लिए बंद रहेंगे। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)...

How To become Rich: बिना कुछ किए हुए भी बन सकते हैं आमिर! अपनाने होंगे ये टिप्स

जो सुंदरता, भव्यता और समृद्धि हमें आकर्षित करती है, जिनकी सफलता हमें अचम्भे में डालती है, वह मुकाम, भव्यता या समृद्धि कोई चुटकी बजाकर...

Indian Railway: इस दिन बंद रहेंगी रेलवे की सर्विसेज, जानिए लेटेस्ट अपडेट

अगर आप ट्रेन से सफर करने वाले हैं। तो आपके लिए जरूरी खबर है। 23 अक्टूबर रात 11.45 बजे से 24 अक्टूबर सुबह 5...

Rashmika Mandanna नाराज़ होने पर क्या करती हैं; वीडियो देखें

Rashmika Mandanna साउथ फिल्म इंडस्ट्री की सबसे खूबसूरत और लोकप्रिय अभिनेत्रियों में से एक हैं। कुछ ही फिल्मों से एक्ट्रेस ने दर्शकों के बीच...

‘Goa Is New Model Of Development’: आत्मानिर्भर भारत स्वयंपूर्ण कार्यक्रम में प्रधानमंत्री

प्रधान मंत्री नरेंद्र Modi ने शनिवार को "आत्मानबीर भारत स्वयंपूर्ण गोवा" कार्यक्रम के लाभार्थियों के साथ एक आभासी बातचीत की। इस अवसर पर बोलते...