होमHeadlinesउत्तराखंड - एंट्री के लिए बॉडर पर करवाना होगा कोविड टेस्ट, देना...

उत्तराखंड – एंट्री के लिए बॉडर पर करवाना होगा कोविड टेस्ट, देना होगा जाँच का शुल्क

उत्तराखंड में बढ़ते हुए कोरोना मामलो को देखते हुए सरकार ने बॉर्डर चेक पोस्ट पर एंट्री के दौरान कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया है।  कोविड 19 के संक्रमण नियंत्रण करने के लिए शुक्रवार को उत्तराखंड सरकार के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने सभी जिलाधिकारियों को आदेश जारी किया है की वे राज्य से बाहर से आने वाले लोग को आईसीएमआर अधिकृत लैब से आरटी-पीसीआर, ट्रूनेट, सीबीएनएएटी जांच के बाद ही प्रवेश दें। और टेस्ट का भुगतान आने वाले लोगो को स्वयं करना होगा।  राज्य में आने वाले लोगो को शारीरिक दुरी , मास्क पहनना आदि सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा।

सरकार के द्वारा जाँच का शुल्क निर्धारित किया है गया जिसमे प्राइवेट लैब से टेस्ट करने का शुल्क 2400 रखा गया है और सरकारी जाँच करने पर प्रति व्यक्ति शुल्क 2000 तय किया गया है। उत्तराखंड में प्रवेश के लिए देहरादून स्मार्ट सिटी की वेबसाइट पर पंजीकरण करना अनिवार्य किया गया है।

राज्य के बाहर से आने वाले  लोगो के पास यही 96 घंटे के भीतर की गयी कोरोना जाँच रिपोर्ट नेगेटिव है तो बॉर्डर में चेक पोस्टो पर उन लोग की जाँच नहीं की जाएगी। कोरोना जाँच के दौरान यदि कोई व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है उक्त व्यक्ति को नजदीकी नजदीकी कोविड सेण्टर में भर्ती कराया जायेगा यह जिम्मेदारी जिला प्रशासन और स्वास्थ्या विभाग की होगी की वे पॉजिटिव व्यक्ति को नजदीकी कोविड सेण्टर तक पहुचाये।

फ्लाइट और रेलवे से आने वाले यात्रियों का भी कोविड टेस्ट अनिवार्य होगा। फ्लाइट और रेलवे यात्रा करने वालो की कोविड जाँच एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर ही की जाएगी।  टेस्ट के बाद ही उन्हें एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन के बाहर आने की अनुमति मिलेगी। कोरोना केस के अचानक बढ़ने के बाद सरकार ने यह कदम उठाये है।  उत्तराखंड सरकार के कई विधायक भी कोरोना से संक्रमित हो चुके है।

Must Read

Related News

error: Content is protected !!